स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान के लिये पुख्ता प्रबंध किये जायेंगे

विधानसभा निर्वाचन के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा प्रेस वार्ता आयोजित

 

 

कटनी (26 नवंबर) संजीव श्रीवास्तव की रिपोर्ट – विधानसभा निर्वाचन 2018 के संबंध में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी केवीएस चौधरी द्वारा कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित प्रेसवार्ता में कटनी जिले की चारों विधानसभा क्षेत्रों में स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिये की गई व्यवस्थाओं के बारे में पत्रकारों को जानकारी दी। उन्होने कहा कि विधानसभा निर्वाचन 2018 में जिले में शत्-प्रतिशत मतदाताओं की सहभागिता सुनिश्चित करने मीडिया का सहयोग आपेक्षित है। इस दौरान पुलिस अधीक्षक मिथलेश शुक्ला ने विधानसभा निर्वाचन के मतदान प्रक्रिया के संचालन के लिये की जा रही सुरक्षा व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी।
प्रेस वार्ता के दौरान कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री चौधरी ने बताया कि विधानसभा निर्वाचन सम्पन्न कराने के लिये मतदान दलों को 27 नवंबर की प्रातः 7 बजे से कृषि उपज मण्डी प्रांगण स्थित मतदान सामग्री वितरण स्थल से सामग्री का वितरण होगा। मतदान दल मतदान के पश्चात 28 नवंबर की शाम से वापस लौटकर इसी स्थल पर बनाये गये स्ट्रांग रुम में सामग्री वापसी करेंगे। उन्होने बताया कि 26 नवंबर की शाम 5 बजे से प्रचार प्रसार बंद हो गया है। प्रिन्ट मीडिया में 27 और 28 नवंबर को प्रकाशित होने वाली प्रचार सामग्री को एमसीएमसी से अनुमति लेनी होगी। इसी समय से उम्मीदवारों को दी गई समस्त प्रकार की अनुमतियां निरस्त हो जायेंगी। मतदान समाप्ति के 48 घंटे पूर्व से अथवा मतदान के दिन एक अभ्यर्थी तीन वाहनों का उपयोग रिटर्निंग ऑफीसर से अनुमति प्राप्त कर कर सकेगा। जिसके अनुसार प्रत्येक वाहन में ड्राईवर सहित 5 व्यक्तियों से अधिक नहीं बैठेंगे। इस अवधि में लाउडस्पीकर के उपयोग की अनुमति नहीं दी जायेगी। सभी मतदाताओं को मतदाता पर्ची वितरित की गई है, जिन्हें पर्ची नहीं मिली है वे भी 14 प्रकार के वैकल्पिक दस्तावेजों के आधार पर मतदान कर सकेंगे। मतदान के लिये 1156 मतदान केन्द्रों के हिसाब से कुल 120 प्रतिशत ईवीएम तैयार की गई है। मतदान दलों का तृतीय रेण्डमाईजेशन प्रेक्षकों की उपस्थिति में कर दिया गया है। सामग्री वितरण में मतदान दलों को असुविधा नहीं हो, इसके लिये समुचित व्यवस्थायें की गई हैं। मतदान दलों एवं सुरक्षाकर्मियों को मतदान दिवस पर भोजन की व्यवस्था समूहों के माध्यम से की गई है। मतप्रतिशत की जानकारी दर्ज करने निर्वाचन आयोग द्वारा मत प्रतिशत के नाम से मोबाईल एप लॉन्च किया गया है।
पुलिस अधीक्षक मिथलेश शुक्ला ने बताया कि विधानसभा निर्वाचन 2018 में कटनी जिले के चारों विधानसभा क्षेत्रों में 326 बूथ क्रिटिकल मतदान केन्द्र हैं। इन केन्द्रों पर 1-4 का पैरामिल्ट्री फोर्स तैनात होगा। इसके अतिरिक्त जिले के 16 नाके और जहां आवश्यकता होगी, वहां भी सीआरपीएफ बल रहेगा। इन क्रिटिकल बूथों के अलावा अन्य मतदान केन्द्रों में वर्दीधारी पुलिस और विशेष पुलिस अधिकारी तैनात रहेंगे। संपूर्ण जिले में लगभग 4500 सुरक्षा बल तैनात होगा। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आचार संहित के पहले से 1 जून से अब तक लगभग 7250 व्यक्तियों को विरुद्ध बाउण्ड ओव्हर की कार्यवाही की गई। 42 अपराधियों को जिला बदर और 113 प्रकरण आर्म्स एक्ट के प्रकरण बनाये गये। जिले में लगभग 1 करोड़ रुपये की कीमत की शराब जप्त की गई है और 2700 वारंट की तामीली की गई है। पुलिस ऑब्जर्वर की उपस्थिति में जिला पुलिस सुरक्षा बल का भी रेण्डमाईजेशन किया गया है। 9 कंपनियां सीआरपीएफ की जिले में बाहर से जिले के लिये तैनात की गई है। जिले में लगभग 1689 निलंबित लायसेन्स शस्त्रों को जमा कराया गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी केवीएस चौधरी और पुलिस अधीक्षक मिथलेश शुक्ला ने जिलेवासियों से स्वतंत्र, निष्पक्ष, निर्भीक एवं शांतिपूर्ण मतदान कराने में मीडिया से सहयोग की अपील की है।