धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में दो संतों के साथ तीन लोगों को जेल भेजा

खंडवा। विधानसभा चुनाव के घमासान में सोमवार को शहर में महादेवगढ़ संरक्षक अशोक पालीवाल और दो संतों को धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। महादेवगढ़ समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी कौशल मेहरा के खिलाफ भी पुलिस ने केस दर्ज किया है, लेकिन उन्हें अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है।

पुलिस के अनुसार जावर और जसवाड़ी में सभा के दौरान धार्मिक भावनाएं भड़काने के मामले में पुलिस ने केस दर्ज किया था। सोमवार दोपहर निर्दलीय प्रत्याशी के पड़ावा स्थित चुनाव कार्यालय के पास से अशोक पालीवाल, संत जितेंद्र नाथ महाराज पिता प्रभु प्रहरी और भावेशानंद महाराज पिता अशोक राव दासनाशक्ति पीठ दोनों निवासी गाजियाबाद को गिरफ्तार कर लिया गया।

कोतवाली ले जाया गया और जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में समर्थक भी यहां पहुंच गए। तीनों आरोपितों को एसडीएम कोर्ट में पेश किए जाने पर जेल भेज दिया गया। इस दौरान पदमनगर थाने में दर्ज केस को लेकर निर्दलीय प्रत्याशी कौशल मेहरा भी गिरफ्तारी देने पहुंचे लेकिन पुलिस ने इनकार कर दिया। मेहरा पर संजयनगर में नुक्कड़ नाटक की अनुमति लेकर सभा कर धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप है।

उल्लेखनीय है कि इतवारा बाजार में पुराना ऐतिहासिक महादेवगढ़ मंदिर है। यहां करीब पांच साल पहले अतिक्रमण हटाया गया था। महादेवगढ़ संरक्षक पालीवाल निर्दलीय को समर्थन दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *