पुत्री के हत्या के मामले में संदेही पिता ने छपारा थाने की छत से लगाई छलांग हुई मौत

पुत्री के हत्या के मामले में संदेही पिता ने छपारा थाने की छत से लगाई छलांग हुई मौत

न्यायिक जांच के आदेश

परिजनों ने लगाया छपारा पुलिस के ऊपर मारपीट का आरोप

अश्वनी मिश्रा की रिपोर्ट

सिवनी/ छपारा (मप्र) – अपनी ही बेटी के हत्या के आरोप में हिरासत में लिए गये पिता ने पूछताछ के दौरान शुक्रवार शनिवार की दरमियानी रात को छपारा थाने की छत से छलांग लगा दी। पुलिस के द्वारा सुरेश सनोडिया को पहले तो छपारा हॉस्पिटल ले जाया गया जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए सिवनी चिकित्सालय रेफर कर दिया गया था जहां इलाज के दौरान आज सुबह उसकी मौत हो गयी।
उल्लेखनीय है कि लगभग 19 दिन पहले 1 जुलाई को छपारा थाने के अंतर्गत ग्राम जुनापानी में अपने ही मायके के घर में प्रियंका सनोडिया का शव संदिग्ध हालत में मिला था। प्राथमिक तौर पर जांच पड़ताल के दौरान छपारा पुलिस ने प्रियंका की मौत गला दबाकर होने से पाई थी जिसके आधार पर छपारा थाने में हत्या के मामले में दफा 302 का मुकदमा भी दर्ज किया गया था।

यह था मामला

प्रियंका सनोडिया का विवाह लगभग 5 वर्ष पूर्व सागर जिले के पंडरिया ग्राम में हुआ था लेकिन वहां ससुराल में कम और मायके में ज्यादा रहती थी। 22 मई को प्रियंका अपनी बहन की शादी में शामिल होने के लिए अपने मायके जूनापानी पहुंची थी और तब से लेकर 1 जुलाई तक वह अपने मायके के घर पर थी। जिस दिन प्रियंका की मौत हुई उस दिन घर में सिर्फ प्रियंका और उसका भाई आशीष मौजूद थे और भाई के बताये अनुसार प्रियंका देर रात तक मोबाइल में किसी से बात कर रही थी। उसके बाद सुबह होने पर उसके भाई ने प्रियंका को अपने ही कमरे में मृत अवस्था में पाया था। छपारा पुलिस ने पूरी जांच-पड़ताल के बाद उक्त महिला की गला दबाकर हत्या होना पाया था इस आधार पर कुछ लोगों से भी लगातार पूछताछ की जा रही थी और इसी घटनाक्रम में मृतिका पूनम के पिता सुरेश सनोडिया को भी 19 जुलाई शुक्रवार की देर शाम को छपारा थाने लाया गया था। छपारा थाने में पूछताछ के दौरान देर रात तकरीबन 11 और 12 के बीच तेज बारिश होने के चलते लाइट गोल हो जाने पर सुरेश सनोडिया ने दौड़कर थाने के छत से छलांग लगा दी थी। जिसके बाद उसे गंभीर हालत में पहले तो छपारा हॉस्पिटल लाया गया था जहां से उसे सिवनी चिकित्सालय रेफर कर दिया गया था और इलाज के दौरान सुरेश सनोडिया कि आज सुबह मौत हो गयी।

परिजनों ने लगाया पुलिस पर मारपीट का आरोप

इस पूरे घटनाक्रम के बाद परिजनों ने जिला चिकित्सालय पहुंचकर मीडिया के सामने छपारा पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए बताया है कि उनके पिता की मौत गिरने से नहीं हुई है।उनके पिता सुरेश सनोडिया के साथ छपारा पुलिस के द्वारा जमकर मारपीट की गई है। परिजनों ने यह भी बताया कि पिछले आठ-दस दिन से पूरे परिवार को छपारा पुलिस के द्वारा दिन दिन भर थाने में बुलाकर पूछताछ के नाम पर बेवजह परेशान किया जाकर अभद्रता भी की जा रही थी।

न्यायिक जांच के आदेश

छपारा थाने में घटे इस घटनाक्रम के बाद भारी पुलिस बल छपारा थाने सहित जिला चिकित्सालय सिवनी में तैनात कर दिया गया था। सिवनी के एसपी कुमार प्रतीक और एडिशनल एसपी इस पूरे मामले की जांच पड़ताल के लिए सुबह से ही छपारा थाना पहुंच गए थे। वहीं जिला प्रशासन ने मामले की गंभीरता को देखते हुये इस पूरे मामले की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश जारी कर दिये हैं।