Eid-ul-Fitr 2020: चांद का दीदार हुआ, देशभर में कल मनाई जाएगी ईद-उल-फितर

  • केरल और कश्मीर में आज ही मनाई जा रही है ईदकोरोना के चलते घरों में ही नमाज़ पढ़ने की अपील
  • ईद का चांद दिखाई दे गया है, पूरे भारत में अब सोमवार ईद-उल-फितर (Eid ul Fitr) का त्योहार मनाया जाएगा.

दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने कहा कि ईद का चांद दिखाई दे गया है, पूरे देश में 25 मई को ईद-उल-फित्र मनाई जाएगी. हालांकि, केरल और जम्मू-कश्मीर राज्यों में शनिवार को ईद के चांद के दीदार होने के बाद आज ही ईद मनाई जा रही है.

दरअसल, ईद-उल-फितर मुसलमानों का सबसे बड़ा त्योहार है, जो रमज़ान के महीने के पूरा होने पर मनाया जाता है. ईद-उल-फितर का त्योहार रमज़ान के 29 या 30 रोजे रखने के बाद चांद देखकर मनाया जाता है. सऊदी अरब, यूएई समेत तमाम खाड़ी देशों में 30 रोज़े पूरे होने के बाद चांद देखकर 24 मई को ईद मनाई गई. जबकि भारत में 24 मई को ईद का चांद दिखाई दिया. जिसके बाद 25 मई को ईद का त्योहार मनाया जाएगा.

बता दें कि ईद-उल-फितर का चांद दिखाई देने के साथ ही रमज़ान का महीना खत्म हो जाता है और शव्वाल का महीना शरू होने के साथ ईद मनाई जाती है. इसलिए चांद के हिसाब की वजह से दुनियाभर में ईद मनाने की तारीख अलग-अलग होती है

इससे पहले उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शनिवार को चांद की झलक पाने के लिए लोग काफी बेकरार रहे लेकिन चांद का दीदार नहीं हो सका. इमाम ईदगाह मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने बताया कि शनिवार को चांद नहीं दिखाई दिया. इसकी वजह से अब सोमवार को ईद होगी. वहीं, दिल्ली की जामा मस्जिद के इमाम ने ऐलान करते हुए कहा कि सोमवार को ईद मनाई जाएगी.

घरों में नमाज पढ़ने की अपील

कोरोना संकट को देखते हुए सभी धार्मिक स्थल बंद हैं, इसलिए मस्जिद में नमाज़ पढ़ने की इजाजत नहीं है. एक तरफ जहां प्रशासन मुस्तैद है तो वहीं, मौलाना और उलेमाओं की तरफ से घर में ही ईद की नमाज़ पढ़ने की अपील की गई है. इसके साथ ही कोरोना से महफूज रहने की दुआ करने की अपील की गई है. इसके अलावा ईद पर गले न मिलने और सोशल मीडिया के माध्यम से मुबारकबाद के लिए भी कहा गया है. घर में परिवार के साथ ईद की खुशियां मनाने की गुजारिश की गई है.

4 से 5 लोग ही मस्जिदों में अदा करेंगे ईद की नमाज़

महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री नवाब मलिक ने रविवार को कहा कि मुस्लिम समुदाय के लोग ईद के मौके पर जमात के साथ नमाज़ अदा नहीं करेंगे. केवल 4 से 5 लोग ही मस्जिदों और ईदगाह में नमाज़ अदा करेंगे. कोरोना संक्रमण को देखते हुए ये फैसला किया गया है. मलिक ने कहा कि लोगों ने जिस तरह शब-ए-बारात और शब-ए-कद्र के मौके पर खुद को संयमित किया है. इसी तरह ईद पर भी करेंगे. लिहाजा सभी लोग मस्जिदों और ईदगाहों में जमात के साथ नमाज़ बढ़ने की बजाए अपने घरों में नमाज़ अदा करें.

Covid19 World Wide Live Data

Click to know Live Status of Covid19